पैगंबर साहब के बताए मार्ग पर चलने से ही मिलेगी निजात : कासमी

The path shown by the Prophet

पड़ोसियों और रिश्तेदारों के साथ अच्छा बरताव करने का पैगाम देता है इस्लाम
पैगंबर साहब की शिक्षाओं को आम करने के लिये जमीअत करा रही शहर भर में कार्यक्रम
गुरूवार को बड़ा भारूवाला और अधोईवाला में हुए कार्यक्रम

देहरादून। The path shown by the Prophet जमीअत उलेमा-ए-हिंद की देहरादून इकाई की जानिब से सीरत-उन-नबी के उनवान से शहर भर की मुखतलिफ मस्जिदों में शहर काज़ी व जमीअत के प्रदेश उपाध्यक्ष मौलाना मौहम्मद अहमद कासमी की अध्यक्षता में 14 कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे है। जिसके तहत गुरूवार रात को बड़ा भारूवांला और दोपहर में अधोईवाला में जलसे आयोजित किये गये, जिसमें पैगंबर मौहम्मद साहब के जीवन आत्मसात करने और उनके बताए मार्ग पर चलने का संकल्प लिया गया।

बड़ा भारूवांला जामा मस्जिद में आयोजित जलसे में काजी दारूल कज़ा मुफ्ति सलीम अहमद कासमी ने कहा कि पैगंबर साहब के बताए मार्ग पर चलने से ही निजात मिलेगी। जमीअत के प्रदेश सचिव मौलाना अब्दुल मन्नान कासमी ने कहा कि सुन्नतों पर अमल करने की आदत डालनी होगी।

इस मौके पर जमीअत के प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य मौहम्मद शाहनजर, जिला उपाध्यक्ष मास्टर अब्दुल सत्तार, सचिव शहर जमीअत मुफ्ति अयाज़ अहमद जामई, मौलाना आमिर, मौलाना रागिब, कारी नईम, मौलाना नाजिम, तौसीफ खान, कारी शाहवेज़, हाजी मौहम्मद युसूफ आदि मौजूद रहे।

वही, अधोईवाला मदरसे में आयोजित जलसे में महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक किया गया। इस मौके पर जमीअत के प्रदेश सचिव मौलाना अब्दुल मन्नान कासमी, जिला उपाध्यक्ष मास्टर अब्दुल सत्तार, कारी मुकीम, मौलाना रागिब आदि मौजूद रहे।

यहां होंगे सीरत उन नबी के जलसे

जमीअत उलेमा-ए-हिंद की देहरादून इकाई की जानिब से सीरत-उन-नबी के उनवान से शहर भर में शहर काज़ी व जमीअत के प्रदेश उपाध्यक्ष मौलाना मौहम्मद अहमद कासमी की अध्यक्षता में 14 कार्यक्रम आयोजित किये जाने है।

जमीअत के जिला अध्यक्ष मुफ्ति रईस अहमद कासमी, जिला महासचिव मौलाना इफ्तिखार कासमी व जिला उपाध्यक्ष मौलाना मौहम्मद अब्बास कासमी की सरपरसती में होने वाले कार्यक्रमों में देहरादून और दिगर शहरों के उलेमा पैगंबर मौहम्मद साहब (सल्लललाहु अलेही वसल्लम) की सीरत पर बयानात फरमाएंगे, साथ ही मिल्लत में तालीम (शिक्षा) के प्रति बेदारी लाने के लिये भी अभियान चलाया जाएगा।

22 सितंबर को इशा के बाद बिलाल मस्जिद सिंघल मण्डी, 24 सितंबर को बाद नमाज़ इशा, नूर मस्जिद औगल भट्टा, 25 सितंबर को बाद नमाज़ इशा, नुरानी मस्जिद भगत सिंह कालोनी, 26 सितंबर को बाद नमाज़ इशा, मुस्लिम बस्ती, नियर मस्जिद उमर कारगी, 27 सितंबर को बाद नमाज़ इशा, मस्जिद रहीमी, मदरसे वाली, मेहुंवाला माफी, 29 सितंबर को नमाज़े जुमा में जामा मस्जिद चंदन नगर, 30 सितंबर को बाद नमाजे़ इशा|

सना मस्जिद, सना चौक आजाद कालोनी, 1 अक्टुबर को बाद नमाज़ जोहर (केवल महिलाओं के लिये), मदरसा जमालुल कुरआन आजाद कालोनी, 5 अक्टुबर को बाद नमाज़ इशा, मक्का मस्जिद भंडारी बाग, 7 अक्टुबर को बाद नमाज़ मगरिब, मदरसे वाली मस्जिद, कांवली व 12 अक्टुबर को बाद नमाज़ इशा, बिलाल मस्जिद, ब्रहम्णवाला देहरादून में सीरत उन नबी के जलसे आयोजित किये जाएंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here