यूरोप में घूम-घूम कर मुंगेरीलाल के हसीन सपने देखना बंद करें सतपाल महाराज : करन माहरा

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा|

Satpal Maharaj should stop dreaming of Mungerilal

देहरादून। Satpal Maharaj should stop dreaming of Mungerilal उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा ने पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज के केदारनाथ के विद्यालयों में साउंड प्रूफ कक्षाएं चलाने के बयान पर कटाक्ष करते हुए कहा कि यूरोप में घूमकर पर्यटन व्यवस्था में सुधार की बात न कर शिक्षा व्यवस्था में सुधार के लिए मुगेंरी लाल के हसीन सपने देख रहें हैं।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष श्री माहरा ने कहा कि पूरे राज्य में विद्यालयों के भवन जीर्ण शीर्ण अवस्था में हैं, और विद्यालयों के भवनों की मरम्मत नही कर पा रहा है, बरसात के दौरान अधिकतर विद्यालयों की छतें टपक रही हैं जिसमें विद्यार्थियों को काफी कठिनाईयों का सामना करना पड रहा है।

प्रदेश के अधिंकाश विद्यालयों में सरकार अभी तक भी विद्युत कनेक्शन भी उपलब्ध नही करा पा रही है, जबकि भाजपा सरकार छात्र-छात्राओं को इस आधुनिक युग में न तो कम्प्यूटर उपलब्ध करा पा रही और न ही कम्प्यूटर के शिक्षकों की निुयक्ति की जा रही है, जिससे छात्रों को कम्प्यूटर शिक्षा के अध्यन में भी बाधा उत्पन्न हो रही है।

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष माहरा ने कहा कि पूरे प्रदेश में शिक्षकों की भारी कमी के कारण बच्चों को अच्छी शिक्षा नहीं मिल पा रही है। माहरा ने कटाक्ष करते हुए कहा कि विगत सत्र में अटल आदर्श विद्यालयों का परीक्षा परिणाम बहुत ही निराशाजनक रहा है जबकि प्रदेश सरकार अटल आदर्श विद्यालयों का गुणगान करते नहीं थक रहे है।

माहरा ने कहा कि अगर सरकार शिक्षा व्यवस्था में सुधार प्रति वचनबद्ध है तो सबसे पहले शिक्षकों की कमी को दूर करना चाहिए, अभी भी प्रदेश के विद्यालयों में प्रवक्ताओं और एलटी शिक्षकों के हजारों पद रिक्त पडे हुए हैं|

सरकार की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी है : Karan mahara

विद्यालयों की प्रयोगशाला सहायकों के सैकडों रिक्त पडे हैं लेकिन यह सरकार शिक्षा सुधार के नाम पर कोरी घोषणाएं करने में तुली हुई हैं, अभी भी कक्षा कक्ष मरम्मत के लिए लिए तरस रहे हैं, विद्यालयों में छत गिरने की घटनाएं लगातार हो रही हैं। उन्होंने कहा कि अटल आदर्श विद्यालयों के परीक्षा परिणाम में सरकार की शिक्षा व्यवस्था की पोल खोल दी है।

प्रदेश अध्यक्ष माहरा ने कहा कि राज्य के विद्यालयों में बच्चों और शिक्षकों के लिए शौचालयों तक की सुविधा नहीं है तथा बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नारा देने वाली सरकार अभी तक भी छात्राओं के लिए विद्यालयों में प्रथक से महिला शौचालयों का निमार्ण नही करा पायी है।

श्री माहरा ने कहा कि पर्यटन मंत्री को यह भी पता नहीं है कि शिक्षा विभाग द्वारा कितने प्राथमिक विद्यालयों को बंद कर दिया गया है। उन्होंने कहा कि पर्यटन मंत्री अपने विभाग की सुध नहीं ले पा रहे हैं। श्री माहरा ने पर्यटन मंत्री को सलाह दी कि पहले मंत्री को केदारनाथ के पंडा पुरोहितों द्वारा उठाये गये केदारनाथ में स्वर्ण जडित प्रकरण का जवाब देना चाहिए, क्योंकि यह प्रकरण देश के करोडों करोड हिन्दुओं की आस्था का प्रतीक है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here