डेंगू/मलेरिया को लेकर अलर्ट मोड पर स्वास्थ्य विभाग

देहरादून। Health department on alert mode regarding dengue मानसून के आगमन के दृष्टिगत स्वास्थ्य विभाग द्वारा डेंगू/मलेरिया नियंत्रण एवं रोकथाम हेतु तैयारियां शुरू कर दी गयी हैं। गुरूवार को जनपद देहरादून में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 संजय जैन द्वारा डेंगू/मलेरिया नियंत्रण एवं रोकथाम से संबंधित तैयारियों को लेकर रणनीति तैयार की तथा संबंधित अधिकारियों एवं कर्मचारियों को जिम्मेदारियां तय की।

बैठक में निर्णय लिया गया कि आगामी सोमवार से नगर निगम के अंतर्गत चिन्हित 60 वार्डों में सघन जागरूकता अभियान तथा सोर्स रिडक्शन गतिविधि का संचालन किया जायेगा। इस हेतु माइक्रोप्लान तैयार किया गया है। समुदाय स्तर पर जागरूकता अभियान तथा सोर्स रिडक्शन का कार्य आशा कार्यकत्रियों द्वारा किया जायेगा। इस हेतु क्षेत्र की सभी आशा कार्यकत्रियों को आवश्यक प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है। नगर निगम की कूड़ा एकत्रिक करने वाले वाहनों के माध्यम से भी माईकिंग तथा पैम्फलेट वितरण कर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के अधीन समस्त चिकित्सालयों को डेंगू परीक्षण किट की आपूर्ति की जा रही है। समस्त चिकित्सालयों को डेंगू/मलेरिया हेतु पृथक वार्ड तैयार करने हेतु निर्देशित किया गया है। जनपद के समस्त ब्लड बैंकों को रक्त की उपलब्धता के बारे में अवगत कराने हेतु कहा गया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 संजय जैन ने बताया कि आगामी मानसून सीजन को देखते हुए यह तैयारियां की जा रही हैं। विगत वर्ष सबसे अधिक डेंगू/मलेरिया केस वाले क्षेत्रों को हॉट स्पॉट के रूप में चिन्हित कर विशेष रणनीति के तहत कार्य किया जा रहा है। शुरूआती दौर में जनसमुदाय को डेंगू/मलेरिया फैलने के कारणों के प्रति जागरूक करना प्राथमिक उद्देश्य है। सोर्स रिडक्शन गतिविध के तहत समुदाय में लार्वा साईट का चिन्हीकरण नष्ट करने के निर्देश टीम को दिये गये हैं।

डॉ0 जैन ने जनसमुदाय से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग सप्ताह में कम से कम दो बार अपने घरों के आस पास रुके हुए पानी को साफ करें, स्वच्छता बनाए रखें, कूलर के पानी को सप्ताह में दो बार बदलें, पीने के पानी को ढककर रखें, शरीर को ढकने वाले कपड़े पहनें, बच्चों को पूरी बाहं की यूनीफॉर्म पहनाकर स्कूल भेजें। घर के आसपास पुराने बर्तन, टायर, टूटे बर्तन, गमले आदि में पानी जमा ना होनें दें और सोते समय मच्छरदानी का उपयोग करें।

बैठक में अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी एन.एच.एम. डॉ निधि रावत, जिला सर्विलांस अधिकारी डॉ0 सी0एस0रावत, एपिडीमियोलॉजिस्ट डॉ0 पियूष, एन.वी.बी.डी.सी.पी. कंसल्टेंट मनीषा बिष्ट, जिला आई.ई.सी. समन्वयक पूजन नेगी, डाटा मैनेजर दीपक सहल, आशा समन्वयक दिनेश पांडे, पंचम बिष्ट, लैब टैक्नीशियन अशीष किमोठी आदि उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here