सादगी से मनाया जाए ईद-उल-अज़हा का त्यौहार : जमीअत

देहरादून। Eid-ul-Azha festival should be celebrated with simplicity जमीअत उलेमा-ए-हिंद के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी के दिशा निर्देश पर उत्तराखंड जमीअत ने भी ईद-उल-अज़हा पर कुरबानी के दौरान एहतियात बरतने और साफ-सफाई की व्यवस्था का विशेष ध्यान रखने का आह्वान किया है।

गुरुवार को आजाद कॉलोनी स्थित मदरसा दार-ए-अरकम में जमीयत उलेमा-ए-हिंद की जिला कार्यकारिणी की बैठक आयोजित हुई, जिसमें ईद-उल-अज़हा को लेकर चर्चा की गई। उलेमा ने लोगों से अपील की कि वह सादगी के साथ ईद-उल-अज़हा का त्यौहार मनाए। प्रतिबंधित जानवरों की कुर्बानी ना करें। कुरबानी के बाद साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखें और कोई भी फोटो या वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट न करे।

इसके अलावा जिला कार्यकारिणी का 2 साल का कार्यकाल खत्म होने के बाद नई कार्यकारिणी के गठन को लेकर भी चर्चा की गई। नए सदस्य बनाए जाने शुरू कर दिए गए हैं। इसके अलावा समाज सुधार, नशे के खिलाफ अभियान चलाने पर भी मंथन किया गया और गर्मी को देखते हुए बड़े पैमाने पर पौधारोपण करने का भी फैसला लिया गया। बैठक की अध्यक्ष्ता जिला महासचिव मौलाना इफ्तखार क़ासमी ने की।

इस दौरान जिला सदर मुफ्ती रईस कासमी ने जिला कार्यकारिणी के गठन को लेकर भी चर्चा की। इस दौरान जिला महासचिव मौलाना इफ्तिखार कासमी, उपाध्यक्ष मास्टर अब्दुल सत्तार, प्रदेश सचिव मौलाना अब्दुल मन्नान कासमी, मौलाना रिहान गनी, मौलाना अब्दुल वाजिद मजाहिरी, कारी अब्दुल समद, कारी मोहम्मद अहसान, हाफिज मोहम्मद शाह नजर, मौलाना मौहम्मद राशिद, कारी राव आरिफ, कारी शावेज, कारी इरफान, मौलाना रागिब मजाहिरी, कारी नईम, मुफ्ती नसीम अहमद, कारी मौहम्मद फाइक, कारी मुकीम अहमद, मौलाना अब्दुल खालिक, नौशाद अहमद, मौहम्मद शहजाद, कारी मौहम्मद जाकिर अली, मौलाना आमिर रशीदी, मौहम्मद इम्तियाज, मौलाना नवाजिश, मौलाना आमिर हुसैन व कारी फरहान आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here