मणिपुर घटना के विरोध में कांग्रेस ने किया प्रदर्शन, पीएम व गृहमंत्री का पुतला फूंका

पुतला फूंकते कांग्रेस कार्यकर्ता।

देहरादून। Congress protests against Manipur incident प्रदेश महिला कांग्रेस व कांग्रेस कमेटी ने संयुक्त रूप से आज मणिपुर में हुई मानवता के विरुद्ध विभस्त अपराध व यौन हिंसा के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह व मणिपुर के मुख्यमंत्री का पुतला दहन किया।

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने भी साथ आकर सभी कार्यकर्ताओं का मनोबल बढ़ाया व महानगर अध्यक्ष उर्मिला थापा व डॉक्टर जसविंदर सिंह गोगी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी आप इस वीभस्त घटना पर आपको गृहमंत्री को इस्तिफा देना चाहिए और मणिपुर के मुख्यमंत्री को भी इस्तिफा दे देना चाहिए इस आपराधिक कृत्य से सारी मानवता शर्मसार हो गयी है।

वहीं वरिष्ठ उपाध्यक्ष आशा मनोरमा डोबरियाल शर्मा ने महामहिम राष्ट्रपति महोदया को ज्ञापन भेजकर  प्रधानमंत्री, गृहमंत्री से इस्तिफे व मणिपुर के मुख्यमंत्री को बर्खास्त करने की मांग को लेकर ज्ञापन भेजा है। उन्होंने अपने ज्ञापन में कहा कि मणिपुर में लंबे समय से हिंसा, अराजकता का वातावरण बना हुआ है।

मुख्यमंत्री बीरेन्द्र सिंह की सरकार हिंसा पर रोक लगाने में असफल रही है एयहाँ तक कि वहाँ पर महिलाओं के साथ मानवता को शर्मसार एवीभत्स  हिंसा ने पूरे विश्व में देश की शर्मसार किया है। मुख्यमंत्री मणिपुर ने स्वयं स्वीकार किया है कि इस तरह की सैकडों घटनाएँ हुई हैं स्पष्ट है की मणिपुर की सरकार अराजकता को रोकने में असफल रही है|

महिलाओं के साथ की गई अमानवीय एवीभत्स हिंसा ने देश को विश्व में शर्मसार किया है। प्रधानमंत्री को उपरोक्त घटनाओं की जानकारी 77 दिन बाद होना 77 दिन पहले हुई घटना के बारे में प्रधानमंत्री जी को अब पता चला है। मुख्यमंत्री कह रहें हैं ऐसी सैकड़ों घटनायें हुई हैं|

प्रधानमंत्री  मोदी ने 8:25 के वक्तव्य में 36 सेकंड मणिपुर पर बोला और फिर राजस्थान छत्तीसगढ़ पर चले गये। ये भी हमारे लोकतन्त्र की व्यवस्थाओं पर प्रश्न चिन्ह लगाती है ।इससे यह भी स्पष्ट है कि मणिपुर में सांविधानिक संस्थायें असफल रही है व प्रधानमंत्री तथा गृह मंत्री की इस पर चुप्पी ने स्थिति को और बिगड़ा है।

माननीय सर्वोच्च न्यायालय की टिप्पणी भी सरकार को बर्खास्त करने का एक आधार है। उन्होंने महामहिम राष्ट्रपति महोदया को संबोधित ज्ञापन में यह मांग करते हुए कहा कि मणिपुर की सरकार को तुरंत बर्खास्त किया जाए व प्रधानमंत्री सहित उनके मंत्रीमण्डल का भी त्यागपत्र लिया जाना चाहिए क्यों कि केंद्र की सरकार ने अपने सांविधानिक दायित्व का उचित निर्वहन नहीं किया है मणिपुर में स्थिति को बिगड़ने दिया।

इस अवसर पर महानगर अध्यक्ष उर्मिला थापा, महानगर अध्यक्ष डॉक्टर जसविंदर सिंह गोगी, चंद्रकला नेगी, पुष्पा पंवार, अनुराधा तिवारी, राधा, उमा, शिवानी थपलियाल, पूनम सिंह, गरिमा दसौनी, राधा, मनीष नागपाल, पिया थापा, अमित भंडारी, रोबिन त्यागी, सुरेंद्र सैनी, सूरज छेत्री सहित कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here