फर्जी ज्वाइंट कमिश्नर बनकर अधिकारियों को कॉल करने गिरफ्तार

पकड़े गए आरोपी।

देहरादून। Arrested for calling officers by posing as fake joint commissioner एस.ओ.जी. व थाना विकासनगर पुलिस की संयुक्त टीम द्वारा इन्कम टैक्स का फर्जी ज्वाइंट कमिश्नर बनकर सरकारी अधिकारियों को कॉल कर जमीन सम्बंधी दस्तावेज मांगने वाले गैंग का पर्दाफाश करते हुए 2 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है।

13 जुलाई को राजस्व उपनिरीक्षक डिम्पल तहसील विकासनगर द्वारा थाना विकासनगर पर आकर लिखित तहरीर दी गई कि, उन्हें उप जिलाधिकारी विकासनगर द्वारा शाहपुर कल्याणपुर में एक भूमि की जांच करने हेतु आदेशित किया गया था, उप जिलाधिकारी विकासनगर द्वारा बताया गया कि उनके मोबाइल नंबर पर एक अन्य मोबाइल नंबर से कॉल आयी जिसमें कालर द्वारा स्वंय को ज्वाइंट कमिश्नर इनकम टैक्स देहरादून बताते हुए अपना नाम कमल सिंह बताया|

हाजी इकबाल की शाहपुर कल्याणपुर स्थित भूमि के संबंध में उनके यंहा जांच प्रचलित होने के सम्बन्ध में बताते हुए छापेमारी की कार्यवाही के लिये इनकम टैक्स विभाग को उक्त  भूमि से संबंधित दस्तावेजों की जानकारी मांगी गयी तथा उनके द्वारा इनकम टैक्स ऑफिसर गुलशन कुमार के नाम से एक मोबाइल नंबर देते हुए उन्हें जानकारी उपलब्ध कराने हेतु कहा गया।

जिसके बाद वे उप जिलाधिकारी विकासनगर के आदेश पर मौके पर गई तथा गांव के व्यक्तियों से उक्त भूमि के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त कर उक्त जानकारी से दिए गए मोबाइल नंबर पर संपर्क कर अवगत कराया गया, उक्त व्यक्ति द्वारा खुद का परिचय इनकम टैक्स ऑफिसर गुलशन कुमार के रूप में दिया गया तथा उसके द्वारा उप जिलाधिकारी विकासनगर से सम्पर्क कर उक्त भूमि की  खतौनी उपलब्ध कराने को कहा गया।

जिस पर उप जिलाधिकारी विकासनगर द्वारा तहसील विकासनगर से खतौनी की हार्ड कॉपी उन्हें उपलब्ध कराई गई, इसके पश्चात उनके द्वारा रजिस्ट्ररी उपलब्ध कराने के सम्बन्ध में उप जिलाधिकारी विकासनगर को बताया गया। जिस पर उप जिलाधिकारी विकासनगर द्वारा उन्हें रजिस्ट्री की मूल प्रति सब रजिस्ट्रार कार्यालय विकासनगर से प्राप्त करने के सम्बन्ध में अवगत कराया गया।

इसके पश्चात जब उप जिलाधिकारी विकासनगर द्वारा उक्त व्यक्ति से फोन पर सम्पर्क किया गया तो उक्त व्यक्ति की बाते उन्हे कुछ संदिग्ध प्रतीत हुई। जिस पर उनके द्वारा अपने उच्च अधिकारियों को इस संबंध में अवगत कराते हुए आयकर  कार्यालय देहरादून से कमल सिंह जॉइंट कमिश्नर तथा गुलशन कुमार इनकम टैक्स ऑफिसर के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गई, जिस पर आयकर कार्यालय द्वारा अवगत कराया कि इस नाम व पदनाम के कोई अधिकारी व कर्मचारी उनके कार्यालय में नहीं हैं। जिससे स्पष्ट है कि उक्त व्यक्तियों द्वारा सरकारी अधिकारी बनकर धोखाधड़ी की नियत से सरकारी दस्तावेजों का दुरुपयोग करने के लिये उन्हें प्राप्त किया गया।

उक्त घटना की जानकारी प्राप्त होने एवं मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस उपमहानिरीक्षक वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद देहरादून के आदेशानुसार अभियोग के अनावरण हेतु पुलिस अधीक्षक यातायात, पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं पुलिस अधीक्षक नगर के निकट पर्यवेक्षण में एस0ओ0जी0 नगर एवं थाना विकासनगर की संयुक्त टीम का गठन किया गया।

गठित टीम द्वारा इलेक्ट्रानिक सर्विलांस के माध्यम से अभियुक्तों के सम्बन्ध में जानकारी एकत्रित करते हुए मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया। जिस पर पुलिस टीम को जानकारी प्राप्त हुई कि गगन पुत्र अमनदीप जो जिला सहारनपुर का रहने वाला है उसके द्वारा लोगों की प्रापर्टी के फर्जी कागजात बनाकर तथा लोगों को नौकरी दिलाने के नाम पर धोखाधड़ी की जाती है, तकनीकी सहायता एवं मुखबिर से प्राप्त सूचना के आधार पर पुलिस टीम द्वारा आरोपी गगन पुत्र अमनदीप को धर्मावाला चैक के पास विकासनगर से इको स्पोर्ट्स कार वाहन संख्या-यू0के0-07-डीडब्ल्यू-1583 के साथ गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ में अभियुक्त गगन द्वारा धोखाधड़ी का कार्य मैं अपने सहयोगी मुंतजिर पुत्र इकराम  निवासी जुनारदा थाना कोतवाली देहात जिला सहारनपुर का नाम बताया गया जिसे पुलिस टीम द्वारा तकनीकी सहायता से तुरंत हरबर्टपुर विकासनगर से गिरफ्तार किया गया। अभियुक्तों की तलाशी लेने पर उनके पास से भारत सरकार के फर्जी आईडी कार्ड व अन्य फर्जी दस्तावेज बरामद हुए।

गिरफ्तार किए गए अभियुक्तों में गगनदीप कुमार पुत्र अमनदीप निवासी बरसी पो0ओ0टिकरोल थाना तीतरो जिला सहारनपुर उ0प्र0 व मुंतजिर पुत्र इकराम निवासी जुनारदा थाना कोतवाली देहात जिला सहारनपुर उत्तर प्रदेश शामिल हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here