खामोश रहोगे तो मारे जाओगे : सजवान

you will be killed if you keep quiet

संस्कृति बचाने के लिए सब को मिलकर काम करना होगा: कासमी
नशे के खिलाफ जागरूकता अभियान चलाएगा नुमाइंदा ग्रुप
मालिन बस्तियों के नियमितीकरण को होगा संघर्ष
श्री देव सुमन को किया याद,  विभूतियों को किया सम्मानित

देहरादून। you will be killed if you keep quiet नुमाइंदा ग्रुप ऑफ उत्तराखंड की और से श्री देव सुमन के शहीदी दिवस पर आयोजित गोष्ठी में कई प्रस्ताव पास करने के साथ साथ विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले लोगो को सम्मानित किया गया।

मंगलवार को गांधी रोड स्थित जिला पंचायत सभागार में श्री देव सुमन के शहीदी दिवस पर एक गोष्ठी आयोजित की गई, जिस में सबसे पहले मणिपुर हिंसा को लेकर निंदा प्रस्ताव पास किया गया। यूकेडी के वरिष्ट नेता लताफत हुसैन ने श्री देव सुमन के जीवन पर प्रकाश डाला और नुमाइंदा ग्रुप ऑफ उत्तराखंड की सार्थकता पर विस्तार से चर्चा की।

डॉक्टर रणवीर सिंह ने कहा की शहीदों को याद रखना चाहिए, आज के दौर में अमन, भाई चारे की जरूरत हैं, सही सोच के लोगो को आगे आ कर देश को बचाना होगा। यूसीसी की जरूरत नहीं, किसी कानून को भी थोपा नहीं जाना चाहिए,  कानून पर न तो सदन में चर्चा हो रही हैं और न ही जनमानस मंथन कर रहा हैं। पूर्व मंत्री शूर वीर सिंह सजवान ने कहा की अगर खामोश रहोगे तो मारे जाओगे, संविधान को बदलने की तैयारी चल रही है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता जमीअत के जिला अध्यक्ष मुफ्ती रईस अहमद कासमी ने की, कहा की अपनी सभ्यता संस्कृति को बचाने के लिए सब को मिलकर काम करना होगा।

मुख्य अतिथि डॉक्टर एस फारूक रहे

नुमाइंदा ग्रुप ऑफ उत्तराखंड के संयोजक पूर्व मंत्री याकूब सिद्दीकी ने प्रदेश में बढ़ते मेडिकल नशे पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि प्रदेश का युवा नशे की गिरफ्त में आ चुका हैं, कई घर बर्बाद हो चुके हैं, हालात गंभीर रूप धारण कर चुके हैं, जिम्मेदार खामोश हैं, इसलिए समाजी दाईताव का निर्वहन करते हुए नुमाइंदा ग्रुप ऑफ उत्तराखंड ने निर्णय लिया है की प्रदेश भर में नशे के खिलाफ सड़कों पर उतर कर जन जागरूकता अभियान चलाया जायेगा। फर्जी मुकदमों में फंसाए गए नौजवानों को कानूनी सहायता प्रदान की जाएगी।

इस मौके पर खुर्शीद अहमद ने मानिल बस्तियों के नियमितीकरण को लेकर कहा की प्रदेश की 11 लाख की आबादी मालिन बस्तियों में रहती हैं, सरकार को चाहिए की इस दिशा में जल्द कोई पहल करे। इस मौके पर राजिया बेग ने मणिपुर और यूसीसी पर कहा की सरकार यूसीसी के बहाने जनहित के मुद्दो से ध्यान हटा रही हैं, मणिपुर जल रहा हैं।

भोपाल चमोली ने श्री देव सुमन के जीवन पर प्रकाश डालते हुए कहा कि हमे उनके संघर्ष को आत्मसात करने की जरूरत हैं। इंदु नोडियाल, दर्शन लाल, ताहिर अली, इंद्रेश मेखुरी, ताहिर अली, मास्टर अब्दुल सत्तार, आसिफ हुसैन, मंजूर बेग, तोसीर अहमद, इरशाद अहमद, प्रदीप बहुगुणा, आसिफ खान, मौलाना हाशिम उमर, आसिफ कुरेशी आदि ने भी अपने विचार रखे।

इन विभूतियों को किया गया सम्मानित

देहरादून। पूर्व मंत्री शूर वीर सिंह सजवान, पूर्व आईएएस रणवीर सिंह, पूर्व आईएएस सुवर्धन शाह, पूर्व जज चिरंची लाल, समाज सेवी डॉक्टर एस फारूक, हर्षपति, कुसुम रावत, दर्शन लाल, गरिमा दसोनी, जे एस गोगी, जमीअत उलेमा हिंद देहरादून के जिला अध्यक्ष मुफ्ती रईस अहमद कासमी, पास्टर सुंदर सिंह चौहान, प्रधान अब्दुल अजीज, पत्रकार डॉक्टर एमआर सकलानी, प्रदीप बहुगुणा, सोमवारी लाल उनियाल, प्रेस क्लब के अध्यक्ष अजय राणा, संजेय कोठारी, त्रिलोचन भट्ट, गोल्डन टाइम्स के संपादक डॉक्टर जमशेद उस्मानी, बीबीसी संवाददाता आसिफ जैदी, शाह टाइम्स से मोहम्मद शाह नज़र, शाहिना परवीन, इकराम अंसारी, इफ्तखार त्यागी, हुमा सिद्दीकी व मोहम्मद राशिद, साईबा सिद्दीकी, फरजान उल्लाह उस्मानी, सायमा सिद्दीकी, अमानुल्लाह, डॉक्टर शाकिर, मोहम्मद अमान, उबेद फारूकी व ह्यूमेरा को सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here