सुफयान ने किया उत्तराखण्ड का नाम रोशन

देहरादून। Sufiyan brought glory to Uttarakhand उत्तराखण्ड में प्रतिभाओ की कमी नही है, बस जरूरत है, उन हीरो को तराशने की, जहां-जहां प्रतिभाओं को तराशा जा रहा है, वह उत्तराखण्ड का नाम रोशन कर रहें हैं। ऐसी ही एक प्रतिभा को मदरसा दार-ए-अरकम ने निखारा तो उसने उत्तराखण्ड का नाम रोशन कर दिया।

मदरसा दार-ए-अरकम आजाद कालोनी के छात्र हाफिज़ मोहम्मद सुफयान ने मदरसे का ही नही उत्तराखण्ड का नाम भी रोशन किया है। हाल ही में जामिया इशातुल उलूम अक्कल कुंआ महाराष्ट्र की और से 10वीं अखिल भारतीय कुरआन पढ़ने की प्रतियोगिया का क्वालीफायर राउंड यूपी के सहारनपुर में आयोजित कराया गया, जिसमें ऑल यूपी-उत्तराखण्ड के कुल 275 मदरसों के 600 सौ से अधिक छात्रों ने प्रतिभाग किया।

मदरसा दार-ए-अरकम आजाद कालोनी देहरादून के छात्र हाफिज़ मोहम्मद सुफयान ने उत्तराखण्ड में प्रथम और यूपी-उत्तराखण्ड में चौथा स्थान प्राप्त कर जहां ऑल इंडिया प्रतियोगिता के लिये क्वालीफायर किया वही, प्रथम आकर उत्तराखण्ड का भी नाम रोशन कर दिया है।

हाफिज़ मोहम्मद सुफयान के शुक्रवार को देहरादून पहुंचने पर मदरसे की और से जौरदार स्वागत किया गया। इस मौके पर मरदसे की जानिब से हाफिज़ मोहम्मद सुफयान व उनके उस्ताद मौलाना अब्दुल वाजिद को सम्मानित करने का फैसला लिया गया है।

इस मौके पर मदरसा संरक्षक हाफिज सुलेमान, प्रबंधक मास्टर अब्दुल सत्तार, मोहतमिम हाफिज मौहम्मद शाहनज़र, मुफ्ति अयाज़ अहमद जामई, मुफ्ति बुरहानुद्दीन रब्बानी कासमी, मौलाना अब्दुल वाजिद, मौलाना शोबान, कारी आरिफ, कारी फरहान, कारी शाहवेज, कारी मुंतजिर, हाजी शमशाद, हाजी ज़फर, तौसीफ खान, अशरफ मलिक, मास्टर मोहसिन, कारी इरफान, अनीस राणा, खुर्शीद अहमद, मुकीम अहमद, मौलाना सुहैल मलिक, मौलाना अबु बकर आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here