मंत्री रेखा आर्या ने देवी स्वरूपा नौ कन्याओं की पूजा की

कन्या पूजन करते मंत्री रेखा आर्य।

भारतीय परंपरा में मातृशक्ति का रहा है सदैव सर्वोपरि स्थानः रेखा आर्या

देहरादून। Minister Rekha Arya worshiped nine girls कैबिनेट मंत्री रेखा आर्या ने माँ सिद्धिदात्री को समर्पित महानवमी के इस पावन दिन पर केदारपुरम स्थित राजकीय शिशु सदन में नौ देवी स्वरूपा, आजखबर। नौ कन्याओं की पूजा अर्चना की।

मंत्री रेखा आर्या ने पहले कन्याओं के पांव पखारे व इसके बाद उन्हें चुनरी उड़ाकर माथे पर तिलक लगाया और उन्हें भोजन कराया। उन्होंने कन्या पूजन के पहले आदि शक्ति मां भगवती दुर्गा की पूजा अर्चना की, उसके बाद मां दुर्गा के विभिन्न नौ रूपों के प्रति कन्याओं की पूजा अर्चन की और विधि विधान और श्रद्धा और सम्मान का भाव रखते हुए इस कार्य को संपन्न किया।

मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि आज नवरात्र की नवमी तिथि है, चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की प्रथम 9 तिथियों में नारी शक्ति मां भगवती की विशेष अनुष्ठान आयोजन नवरात्र के रूप में सनातन धर्मावलियों के द्वारा किया जाता है।

इस अवसर पर परंपरागत रूप से 9 दिनों तक आदिशक्ति मां भगवती जो यह पूरे जगत की आदिशक्ति है कि अनुष्ठान पूजन के उपरांत मातृशक्ति के प्रति सम्मान का भाव रखते हुए कुंवारी कन्याओं के पूजन का कार्यक्रम अभी यहां पर संपन्न हुआ है।

उन्होंने कहा कि भारतीय परंपरा में मातृशक्ति का सदैव सर्वोपरि स्थान रहा है और उसी परंपरा का निर्वहन करते हुए इस पवित्र कार्यक्रमों के साथ जुड़ने का सौभाग्य पूरे देशवासियों को प्राप्त होता है। कहा की आज नवमी की स्थिति पर कुंवारी कन्याओं के पूजन का नवदुर्गा स्वरूप 9 कन्याओं के पूजन का कार्य यहां पर संपन्न हुआ है।

यह पर्व हम सभी को दृढ़ता के साथ सच्चाई के मार्ग पर चलने एवं अपने जीवन से बुराइयों का समूल नाश करने की प्रेरणा देता है। उन्होंने कहा कि उन्हें हर वर्ष शिशु सदन में आकर बेहद खुशी होती है कि वह इन बच्चों के चेहरे पर थोड़ी सी खुशी लाने का काम कर पाती है। इस अवसर पर उन्होंने आदिशक्ति माँ भगवती से समस्त प्रदेशवासियों के सुख, शांति एवं राज्य की समृद्धि हेतु कामना की।

इस अवसर पर मुख्य परिवीक्षा अधिकारी मोहित चैधरी, जिला प्रोबेशन अधिकारी मीना बिष्ट, अधिक्षिका सुनीता सहित समस्त स्टाफ व प्यारे-प्यारे बच्चे उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here