Home Crime पांच लाख रुपए की लूट का खुलासा

पांच लाख रुपए की लूट का खुलासा

0
पांच लाख रुपए की लूट का खुलासा

Loot of five lakh rupees revealed

लूटेरे से एक लाख की नगदी बरामद

देहरादून। Loot of five lakh rupees revealed हरर्बटपुर में हुई पांच लाख रूपये की लूट का पुलिस ने खुलासा करते हुए एक लूटेरे को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से एक लाख रूपये नगद बरामद कर लिये जबकि उसका दूसरा साथी फरार है। पकडे गये बदमाश पर उत्तर प्रदेश, गुजरात व हरियाणा में एक दर्जन से अधिक मुकदमें दर्ज हैं।

आज यहां इसकी जानकारी देते हुए डीआईजीध्एसएसपी दलीप सिंह कुंवर ने बताया कि जाटोवाला निवासी शेरदिल ने 23 मई को विकासनगर कोतवाली पुलिस को सूचना दी थी कि वह हरर्बटपुर स्थित पीएनबी बैंक से पांच लाख रूपये निकालकर आ रहा था तभी मोटरसाईकिल सवार दो बदमाश उसका रूपये से भरा बैग छीनकर भाग गये।

दिनदहाडे हुई लूट की घटना को गम्भीरता से लेते हुए पुलिस ने बदमाशों की तलाश शुरू कर दी। इस लूट के खुलासे के लिए एसओजी व पुलिस की संयुक्त टीम का गठन किया गया। पुलिस टीम ने घटनास्थल के आसपास के लगभग 350 सीसीटीवी कैमरों को खंगाला। जिससे पुलिस को महत्वर्पूण जानकारी हासिल हुई। उन्होंने बताया कि पुलिस टीम को सूचना मिली कि घटना में संलिप्त एक बदमाश दिल्ली में है।

जिसके बाद पुलिस टीम दिल्ली रवाना हुई। जिसके बाद पुलिस टीम ने घटना में शामिल एक बदमाश को दिल्ली रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार कर लिया। जिसने अपना नाम अमित कुमार पुत्र प्रदीप कुमार निवासी 23 पीएसी के पास आदर्श कालोनी सिविल लाईन मुरादाबाद बताया। उसने अपने दूसरे साथी का नाम अविनाश उर्फ मोहित पुत्र रजवा निवासी सिविल लाईन मुरादाबाद बताया।

पूछताछ में उसने बताया कि वह दोनों ही पढे लिखे नहीं हैं तथा कोई काम धंधा नहीं करते हैं। नशे के आदी है तथा नशे की पूर्ति के लिए उन्होंने पूर्व में भी गुजरात, हरियाणा व उत्तर प्रदेश में इस प्रकार की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। उसने बताया कि घटना से दो दिन पहले ही वह दोनों मोटरसाईकिल से हरिद्वार पहुंचे थे तथा वहां पर ललतारा पुल के पास धर्मशाला में कमरा लिया था।

घटना वाले दिन वह मोटरसाईकिल से ही पांवटा जाने के लिए निकले थे। हरर्बटपुर पहुंच वह बैंक के बाहर रूक गये। उसने बताया कि अविनाश बैंक के बाहर खडा रहा तथा वह बैंक के अन्दर गया। जहां पर उसने एक बुजुर्ग को देखा जो किसी से बैंक से पांच लाख निकालने की बात कर रहा था।

जिसके बाद वह बाहर आया और बुजुर्ग का बाहर आने का इंतजार करने लगा। वह जैसे ही बाहर आया तो उसने अविनाश को इशारा कर दिया तथा उसने मोटरसाईकिल स्टार्ट की अविनाश उसके पीछे बैठ गया। बुजुर्ग जैसे ही एक सुनसान इलाके में पहुंचा तभी अविनाश ने उसके हाथ पर झपटा मारकर रूपयों से भरा बैग छीन लिया और वहां से भाग निकले।

लूट के बाद वह जगाधरी गये वहां से छुटमलपुर भगवान पुर होते हुए हरिद्वार पहुंचे और धर्मशाला से अपना सामान लेकर वह वापस मुरादाबाद गये जहां पर उसने लूट में तीन लाख अपने पास रखे और दो लाख रूपये अविनाश को दे दिये।

लूट के रूपयों से उसने अपने बच्चों की फीस व किताबें ली और अपनी साली के यहां बाम्बे चला गया था। आज वापस आया और पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने उसके कब्जे से एक लाख पांच हजार रूपये बरामद कर लिया। उसके साथी की तलाश जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here