करोड़पति बनाने के सपने दिखाकर करोड़ों की ठगी

पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू की

देहरादून। Fraud of crores करोड़पति बनाने के सपने दिखाकर साढे तीन करोड रूपये की ठगी करने के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी। प्राप्त जानकारी के अनुसार दिल्ली निवासी रमेश मिनोचा ने डालनवाला कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराते हुए बताया कि उसका परिचय एक इन्द्रप्रीत सिंह कोहली निवासी जबलपुर मध्यप्रदेश ने अनिल उपाध्याय व विजय उपाध्याय उर्फ विजू डंगवाल पुत्रगण ओम प्रकाश उपाध्याय हाल निवासी आर्य नगर डालनवाला देहरादून से करवाया था|

उक्त लोगों ने उसको अवगत कराया था कि वह बहुत बड़े बिजनेसमैन हैं और वह होटल तथा टूरिस्ट ट्रेवल्स का और बहुमंजली बिल्डिंग तथा प्रोपर्टी डिलिंग का कार्य भारत वर्ष के अतिरिक्त थाईलैण्ड के कई सम्बन्धित नगरो मे करते है तथा वह वीआर इंटरनेश्नल थाई कम्पनी लिमिटेड के नाम से कार्य करते है।

प्रार्थी ने जब वीआर का अर्थ इन लोगो से पूछा तो इन्होने इसका मतलब विजय तथा राजीव इन्टरनेश्नल बताया और इससे सम्बन्धित दस्तावेज उसको दिखाए थे और उसको कहा कि वह उनके साथ पूंजी निवेश करे तो उसको लाखों रुपये का लाभ हो सकता है।

उसने इन लोगों की बात पर विश्वास किया और उसके उपरान्त अनिल व विजय उपाध्याय ने हमारे घर आना शुरू कर दिया तथा मेरे परिवार के लोगों से निकटता करनी शुरू कर दी जिस कारण से वह व उसके परिवार के सदस्यों के मध्य अनिल उपाध्याय व विजय उपाध्याय के मध्य विश्वास पूर्ण सम्बन्ध उत्पन्न हो गये थे और उसने उक्त लोगों का विश्वास करते हुए उनको व्यवसायिक कार्य हेतु धनराशी देनी आरम्भ कर दी।

वह व उसके परिवार के लोगो द्वारा 85 लाख रूपये अनिल उपाध्याय के खाते में आर टी जी एस के माध्यम से ट्रासफर किये गये थे यह धनराशी उसके अतिरिक्त उसके निकट सम्बन्धी श्रीमती राधिका सिंह पत्नी रमेश मनोचा व सास सुधा सिंह व उसके साले आकाश दीप सिंह के द्वारा उपरोक्त खाते में ट्रासफर किये गये थे|

वर्ष 2016 से वर्तमान समय तक उपरोक्त लोग उससे 2 करोड 4 लाख रूपये नगद, आर टी जी एस, चौकों के माध्यम से प्राप्त कर चुके है और अबतक वह वह व उसके निकट सम्बन्धियों से 3 करोड 35 लाख रूपये प्राप्त कर चुके है, इन लोगों के द्वारा उसके साथ न तो कोई पार्टनरशिप डीड की गयी और न ही अब तक किसी के प्रकार की कोई भागदारी से प्राप्त कोई लाभ उसको दिया गया है।

इन लोगों ने उसको राजीव कुमार निवासी नहोनी अम्बाला हरियाणा राज्य को अपना पार्टनर बताया और हमेशा यह दर्शाया की उनका कार्य व्यपार दिल्ली व बैंकॉक के मध्य निरन्तर चल रहा है, इनके द्वारा उसको मल्टीपल स्टोरी बिल्डिंग उसको यह कह कर दिखाई गयी कि इसमें उसके द्वारा दी गयी धनराशी लगी है, और विक्रय होने के बाद मूल तथा लाभांश उसको दिया जायेगा।

जिसके बाद से इन लोगों ने उससे सम्पर्क करना बंद कर दिया है। उसने अपने जीवन भर की पूंजी इन लोगों को दे दी और इन्होंने उसके साथ धोखाधडी की है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here