करोड़ों की चोरी का दून पुलिस ने किया खुलासा

पकड़ा गया आरोपी।

प्रोपर्टी की डीलिंग कराने वाला ब्रोकर ही निकला चोरी का मास्टर माइन्ड

देहरादून। Doon police revealed the theft of crores दून पुलिस ने करोड़ों की चोरी का खुलासा किया है। प्रोपर्टी की डीलिंग कराने वाला ब्रोकर ही चोरी का मास्टर माइन्ड निकला। रायपुर पुलिस ने 2,60,00000/ (दो करोड साठ लाख रूपये) की भारी नकदी के साथ ब्रोकर को किया गिरफ्तार। 19 अगस्त को मीनू गोयल पुत्री ओमप्रकाश गोयल निवासी न्यू डिफेन्स कालोनी विश्वनाथ एन्क्लेव रायपुर देहरादून ने तहरीर दी थी कि 18 अगस्त की रात्रि को उनके घर से रूपये व ज्वैलरी चोरी हो गई।

तहरीर के आधार पर थाना में अज्ञात के विरूद्ध विभिन्न धाराओं में दर्ज मुकदमा दर्ज किया गया और विवेचना उ0नि0 रमन बिष्ट के सुपुर्द की गयी। घटना की गम्भीरता को देखते हुए घटना के शीघ्र अनावरण एवं अभियुक्तों की गिरफ्तारी के लिए दलीप सिंह कुंवर पुलिस उप महानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा निर्देश दिये गये। जिसके क्रम में पुलिस अधीक्षक अपराध व पुलिस अधीक्षक नगर के मार्गदर्शन एवं क्षेत्राधिकारी डोईवाला देहरादून के पर्यवेक्षण में थानाध्यक्ष कुन्दन राम थाना रायपुर के नेतृत्व में चार पुलिस टीमें गठित की गयी।

व0उ0नि0 नवीन जोशी के नेतृत्व में गठित प्रथम पुलिस टीम द्वारा पूर्व में चोरी के अपराधों में गिरफ्तार अभियुक्तगणों का सत्यापन कर उनकी जानकारी एकत्रित की गयी। द्धितीय टीम द्वारा घटनास्थल पर आने व जाने वाले मार्गों पर लगे सीसीटीवी फुटैज को देखने व साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गयी।

तृतीय टीम द्वारा पीडिता के रिश्तेदार, जानने वालों की जानकारी करते हुए उनसे पूछताछ कर साक्ष्य संकलन की कार्यवाही की गयी तथा चतुर्थ टीम द्वारा पीडिता के सम्पर्क में रहे संदिग्ध व्यक्तियों के सर्विलांस के माध्यम से जानकारी एकत्रित की गयी।

पुलिस टीम द्वारा वादिनी/पीड़िता से गहनता से पूछताछ की गयी तो पीड़िता द्वारा स्पष्ट रूप से चोरी की धनराशि नही बतायी गयी, पीडिता को विश्वास में लेने पर उसके द्वारा बताया गया कि वह अपनी माता व भाई के साथ सरस्वती विहार दिल्ली में रहती थी।

जहाँ से सुकुन की जिन्दगी जीने के लिये वह डेढ माह पूर्व देहरादून शिफ्ट हुई थी जिसके लिये उसने अपनी, अपनी माता व अपने भाई की सारी सम्पत्ति को करीब 13 करोड में बेच दिया था जिसमें कुछ धनराशि उसने अपने अकाउन्ट में लिये थे तथा कुछ धनराशि नकद प्राप्त किया था।

जिसको लेकर वह देहरादून आ गयी थी। जहाँ आकर अपने जानने वालों के माध्यम से जमीन खरीदने के लिये वह प्रोपर्टी ब्रोकर सन्नी से मिली। जिसने मुझे राजपुर में जमीन दिखायी व जिस मकान में वह रह रही है वह मकान भी सन्नी ने अपने जानने वालों की सहायता से मुझे 02 करोड में दिलवाया। मुझे अपने रूपये प्रोपर्टी में निवेश करने थे जिसके बारे में सन्नी को जानकारी थी कि मेरे पास करोडो में रूपये है, एक बार मैं सारे रूपये लेकर किसी प्रोपर्टी वाले को देने के लिये सन्नी के साथ गयी भी थी लेकिन किसी कारणवश रूपये नही दिये जा सके तथा सन्नी ने  मेरे पास ये सारे रूपये देख लिये थे ।

दिनांक 18.08.2023 को अपने पार्टनर प्रदीप के यहां रात्रि 20.30 बजे बर्डे पार्टी में मैं अपने परिवार सहित राजपुर रोड दून दरबार गयी थी। जिसमें सन्नी भी आया था । बर्थडे पार्टी कर जैसे ही मैं घर पहुंची तो देखा कि मेरे घर में तीन बडे साइज के ट्राली बैगों में रखे लगभग 02 करोड 60 लाख रूपये व कमरे में लगाया गया सीसीटीवी कैमरे का डीवीआर किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा चोरी कर लिया गया है।

गठित पुलिस टीम द्वारा घटना के आस-पास 10 किलो मीटर के एरिये में लगे कुल 200 से 250 सीसीटीवी कैमरों की फुटेज को चौक किया गया तो घटनास्थल के पास लगे एक सीसीटीवी कैमरे में घटना के समय रात्रि 08.30 बजे के बाद एक सफेद रंग की संदिग्ध स्विफ्ट डिजायर कार आती व 15 मिनट बाद जाती दिखायी दी।

पीडिता के जानने वाले सभी रिश्तेदार अन्य परिचितों से गहनता से पूछताछ की गयी। सभी संदिग्ध व्यक्तियों की सीडीआर का अवलोकन किया गया। संदिग्धों के पास वाहनों की जानकारी प्राप्त की गयी। सम्पूर्ण जानकारी एकत्रित करने पर पुलिस का महत्वपूर्ण सुराग मिला कि प्रोपर्टी ब्रोकर सन्नी के पास एक सफेद रंग की स्विफ्ट कार है।

घटना की तिथि को प्रोपर्टी ब्रोकर सन्नी को मोबाइल फोन घटना के समय बन्द होना पाया गया साथ ही सन्नी को पीडिता के पास भारी धनराशि होने की भी जानकारी पुलिस को मिली।

इसी आधार पर पुलिस द्वारा संदिग्ध सन्नी के क्रिया कलापों पर आने जाने वाले स्थानों मिलने वाले परिचितों पर नजर रखनी शुरू की जिस पर पुलिस को महत्वपूर्ण सूचना मिली की सन्नी अपने परिचित की कार सफारी से कहीं जा रहा है। जिस पर पुलिस टीम द्वारा सन्नी को वंसुधरा एन्क्लेव सहस्त्रधारा रोड से वाहन सहित गिरफ्तार किया गया।

वाहन की तलाशी लेने पर वाहन में रखे 20 लाख रूपये नगद बरामद किये गये। सख्ती से पूछताछ करने पर सन्नी द्वारा उक्त 20 लाख रूपये पीडिता मीनू गोयल के घर से चोरी करना स्वीकार करते हुए अन्य 02 करोड 40 लाख रूपये शिप्रा एन्क्लेव हास्टल में छुपाकर रखे होने व चोरी में प्रयोग की गयी स्वीफ्ट डिजायर कार गंगोत्री विहार केनाल रोड में खडी होना बताया।

अभियुक्त सन्नी की निशानदेही पर शिप्रा एन्क्लेव हास्टल 2 करोड 40 लाख रूपये नगद, 02 ट्राली बैग व घर के पास से ही घटना में प्रयुक्त स्विफ्ट डिजायर कार बरामद की गयी। सन्नी से सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया कि डेढ माह पूर्व वह अपने परिचितों की सहायता से पीडिता मीनू गोयल से मिला था जिसको उसने राजपुर में प्रोपर्टी दिखायी थी व मकान भी 02 करोड में दिलाया था।

मीनू अपने रूपयों को प्रोपर्टी में इनवेस्ट करना चाहती थी। उसने मीनू गोयल के पास 03 बैगों में भरे करोडों रूपये देख लिये थे जिस पर उसे लालच आ गया था। एक माह पूर्व उसने मीनू गोयल के रूपयों को चोरी करने की योजना बनायी लेकिन उसे मौका नही मिला। इसलिये उसने अपने एक अन्य मित्र धीरज को उ0प्र0 से देहरादून 3-4 दिन पहले बुलाया तथा दोनों ने मिलकर मौका देखकर चोरी करने की योजना बनायी। दिनांक 18.08.2023 की रात्रि को मीनू गोयल से ही जानकारी मिली की वह अपने परिवार सहित बर्थडे पार्टी में 08.30 रात्रि राजपुर रोड जाने वाली है जिसमें मुझे भी आमत्रित किया गया था।

मौका देखकर मैंने व मेरे दोस्त धीरज ने जैसे ही मीनू अपने परिवार के साथ बर्थडे पार्टी में गयी इसी बीच हम दोनों ने मीनू गोयल के घर पहुंचकर दरवाजा तोडकर उसके घर में रखे 03 बैगों में रखे रूपयों व घर के अन्दर लगे डीवीआर निकालकर वहां से निकल गये मैंने धीरज को घण्टाघर के पास छोडा तथा मैंने तीनों बैगों मे से जो काफी हल्का बैग था को देकर व डीवीआर देकर उसके घर जाने को छोड दिया जहाँ से वह टेम्पो में बैठकर आईएसबीटी गया और वहां से अपने घर चला गया, मैं बाकि दो बडे बैगों में रखे रूपयों को लेकर अपने जानने वाले के खाली पडे शिप्रा एन्क्लेव हास्टल में आया जहां दोनों बैगों को रखकर बर्थडे पार्टी में शामिल हो गया।

मैंने घटना में अपनी कार स्वीफ्ट डिजायर कार को प्रयोग किया था। घटना में सम्मिलित दूसरे अभियुक्त की गिरफ्तारी हेतु वरि0उ0नि0 नवीन जोशी के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम को रवाना किया गया। पीडिता मीनू गोयल को पुलिस द्वारा चोरी का सफल अनावरण होने की जानकारी होने पर उनके द्वारा पुलिस द्वारा की गयी त्वरित कार्यवाही तथा घटना के सफल अन्वेषण हेतु दून पुलिस व उत्तराखण्ड पुलिस को धन्यवाद कहा गया। गिरफ्तार अभियुक्त में सन्नी पुत्र लेखपाल निवासी गंगोत्री विहार सहस्त्रधारा रोड रायपुर देहरादून उम्र 36 वर्ष मूल पता तेजपूर फाजलपुर रोहटा रोड थाना कंकरखेडा जनपद मेरठ उ0प्र0 शामिल है।

घटना का अनावरण करने वाली पुलिस टीम को पुलिस महानिरीक्षक गढ़वाल परिक्षेत्र द्वारा 50,000 रु0 तथा पुलिस उपमहानिरीक्षक/वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा 25000 रु0 के नगद पुरुस्कार से पुरुस्कृत करने की घोषणा की गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here