दून के बाद सहारनपुर में भी खुला दायित्व करियर अकादमी सेंटर

  • जरूरतमंदों को निःशुल्क कराई जाएगी प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी
  • हालात से लड़ना चाहते हो, तो शिक्षित होना पड़ेगाः डॉ. नवाज़ देवबंदी

सहारनपुर। Dayitva Career Academy Center also opened in Saharanpur देश में आज के समय हर एक व्यक्ति को सामाजिक ताने-बाने को मजबूत करने के लिये काम करने की जरूरत हैं। किसी के काम आने का जज़्बा अपने अंदर पैदा कीजिए। यह बात अंतर्राष्ट्रीय शायर व उत्तर प्रदेश उर्दू अकादमी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. नवाज़ देवबंदी ने बेहट रोड स्थित ग्रीन सीटी कालोनी में दायित्व करियर अकादमी सेंटर का उद्धाटन करते हुए कही।

डॉ. नवाज़ ने कहा कि इंसानियत की बात कीजिए, में रोजाना सात हिंदू भाइयों को फोन करता हूं। हाल-चाल जानता हूं। हर वक्त लोगो की शिक्षा के लिए फिकरमंद रहता हूं। उन्होने कहा कि जीतना चाहते हो तो हारना सीखो, कहा कि बच्चो का किताबो से रिश्ता खत्म हो रहा हैं, मोबाइल ने बचपन तबाह कर दिया हैं, जो कौम किताबो से दूर हो जाती हैं, वाह बर्बाद हो जाती हैं। कहा कि हालात से लड़ना चाहते हो, तो शिक्षित होना पड़ेगा। खुदाई खिदमत गार संगठन के कंवीनर फैसल खान ने भी शिक्षा के महत्व पर अपने विचार रखे।

उल्लेखनीय है कि देहरादून में जरूरतमंदों को निःशुल्क प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी कराने के लिये दायित्व फाउंडेशन की और से मदरसा दार-ए-अरकम आजाद कालोनी में दायित्व करियर अकादमी सेंटर चलाया जा रहा है, जहां प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी करने वाले प्रतिभागियों को निःशुल्क कोचिंग दी जा रही है।

अब सहारनपुर में भी दायित्व करियर अकादमी का सेंटर रसूलपुर बेहट रोड स्थित ग्रीन सीटी कालोनी में शुरू किया गया है। जहा जरूरतमंदों छात्रों को निःशुल्क प्रतियोगी परिक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी। इस मौके पर फरमान इकबाल ने दायित्व फाउंडेशन की स्थापना का उद्देश्य और अब तक के सफर पर रोशनी डाली।

बच्चों को तकनीकी शिक्षा दिलाना बहुत जरूरी

डॉ. गुलफाम ने कहा कि आज के समय लाठिया नहीं कलम गिने जाते है, इसलिये अपने बच्चों को तकनीकी शिक्षा दिलाना बहुत जरूरी। जावेद अहमद ने जनगनणा के आंकड़ों को आधार बना कर कहा कि 3 करोड़ 20 लाख बच्चें आज भी स्कूल नहीं जा रहें।

देश भर में 30 हजार स्कूलों की जरूरत है। कहा कि सरकारी स्कूलों में जाने वाले 80 फीसदी बच्चे मुस्लिम व दलित हैं। गावं-गावं स्कूल बनाए जाए। कमजोर को सहारा देना हमारा दायित्व हैं। उन्होने यह भी कहा कि स्कूलों में आधुनिक और दीनी तालीम दी जाय।

दायित्व करियर अकादमी सेंटर के उद्धाटन के मौके पर हारून रशीद, विराट आईएएस अकादमी के निदेशक रिफाकत अली खान, मौहम्मद शाहनज़र, मौ. आसिफ खान, प्रवेज़ आलम, मास्टर साजिद, राशिद अली, डॉ. सलीम अहमद खान, अफरोज़ खान, मुकीम आलम, अब्दुल सत्तार, फैज़ान अली, नदीम आलम, राशिद जान, मेहताब अहमद, मुनीर अहमद, अब्दुल वहाब, क़मर इंतखाब, सय्यद सुलेमान, मौ. सादिक, मौ. रिज़वान, मुशर्रफ अली, मौ. शादाब, नदीम खान, सुहैल पीरजादा, समीना, समीर अली, बुरहान इकबाल, जावेद इरशाद, गालिब अहमद आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here