दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में रक्तदान शिविर का आयोजन

रक्तदान शिविर का उद्घाटन करते मंत्री धन सिंह।

स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने किया शिविर का शुभारंभ

देहरादून। Blood donation camp organized in Doon Medical College Hospital प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस के उपलक्ष्य में दून मेडिकल कालेज चिकित्सालय में आयोजित सेवा पखवाड़े का स्वास्थ्य मंत्री डा. धन सिंह रावत ने शुभारंभ किया।

इस दौरान आयुष्मान भवः अभियान अंतर्गत स्वैच्छिक रक्तदान शिविर आयोजित किया गया। स्वास्थ्य मंत्री ने 50 से अधिक बार रक्तदान कर चुकेरक्तदाताओं को सम्मानित किया।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री  के 74वें जन्मदिवस के अवसर पर आज प्रदेशभर में 74 जगह रक्तदान शिविर आयोजित किए जा रहे हैैं। उन्होंने बताया कि आयुष्मान भवः अभियान आगामी दो अक्टूबर तक संचालित किया जाएगा।

जिसके तहत हर विधानसभा क्षेत्र में 10-10 रक्तदान शिविर आयोजित किए जाएंगे। जिसमें स्वयंसेवी संस्थाएं, एनएसएस, रेडक्रास सोसाइटी, स्काउट-गाइड्स, रोवर-रेंजर्स के साथ ही स्वास्थ्य, शिक्षा, शहरी विकास, पंचायतीराज, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि भी प्रतिभाग करेंगे। राज्य में रक्तदान के लिए दो लाख लोगों के पंजीयन का लक्ष्य है।

ई-रक्तकोष पर 85 हजार पंजीयन हुए हैैं। इसके अलावा लोगों को नेत्रदान,अंगदान,देहदान का संकल्प भी दिलाया जाएगा। दस हजार लोग को शपथ दिलाने का लक्ष्य है। अंगदान करने वालों के लिए सरकारी अस्पतालों में दधिचि वार्ड बनाए जाएंगे और उन्हें विशेष कार्ड भी दिया जाएगा। कहा कि सेवा पखवाड़े के तहत आयुष्मान कार्ड व आभा आइडी पर भी विशेष फोकस है।

प्रदेश में अब तक 58.65 लाख लोगों की आभा आइडी बनी है। हर नागरिक की आभा आइडी बनाई जाएगी। वहीं, 52 लाख आयुष्मान कार्ड बन गए हैं, 90 लाख बनाने हैं। प्रदेश में शत प्रतिशत आयुष्मान कार्ड बनाने का लक्ष्य है। इसी आधार पर गांवों को आयुष्मान ग्राम घोषित किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह हर विधायक के लिए भी घर-घर जाने का अच्छा अवसर है। मंत्री ने बताया कि आयुष्मान भवरू अभियान के तहत स्वास्थ्य मेले भी आयोजित किए जाएंगे। ग्राम स्तर पर गैर संचारी रोग सहित टीबी, एनीमिया आदि की जांच कराई जाएगी।

उन्होंने महापौर से कहा कि उक्त अभियान के संबंध में सभी पार्षदों की बैठक आहूत करें। ताकि वार्डवार अभियान की रणनीति तय की जा सके। महापौर सुनील उनियाल गामा ने कहा कि इस वक्त प्रदेशभर में डेंगू के मामले आ रहे हैं। ऐसे में प्लेटलेट की भी काफी मांग है।

इस वक्त रक्तदान की बहुत आवश्कता है। उन्होंने सभी रक्तदाताओं का आभार व्यक्त किया। कहा कि जो लोग रक्तदान नहीं करते, वह भी इस नेक कार्य के लिए आगे आएं। स्वास्थ्य महानिदेशक ने आह्वान किया कि अधिकाधिक लोग रक्तदान को पंजीकरण करें।

इस दौरान चिकित्सा शिक्षा निदेशक एवं मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. आशुतोष सयाना, राजपुर रोड विधायक खजानदास, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. संजय जैन, महेंद्र भंडारी वरिष्ठ जनसंपर्क अधिकारी, रेडक्रास सोसाइटी के महासचिव डा. एमएस अंसारी आदि उपस्थित रहे। संचालन अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक डा. अनुराग अग्रवाल ने किया।

कार्यक्रम अध्यक्ष राजपुर रोड विधायक खजान दास ने दून अस्पताल के चिकित्सक व स्टाफ की सराहना की। कहा कि कोरोनाकाल से लेकर डेंगू तक, अस्पताल अच्छा काम कर रहा है।  कोरोनाकाल के आउटसोर्स कर्मियों को वापस लिए जाने की पैरवी उन्होंने की।

रक्तदान शिविर मेें सरकारी अस्पतालों के ब्लड बैैंक को तरजीह दिए जाने की भी बात उन्होंने की। कहा कि अधिकांश संगठन निजी ब्लड बैैंक को तरजीह देते हैैं, पर दुख के साथी सरकारी अस्पताल ही हैैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here